Viral

Lockdown: दिल्ली से बिहार निकला युवक बहू को लेकर पहुंचा घर, रास्ते में ऐसे हुआ प्रेम मिलन

नई दिल्ली।
Lockdown Love Story: आपने फिल्मों ( Films ) में कई बार देखा होगा कि कैसे रस्ते में चलते-चलते दो अनजान प्रेमी जोड़े बन जाते हैं। लेकिन, आज हम आपको एक ऐसी ही सच्ची कहानी बताते हैं, जो फिल्म नहीं असली जिंदगी में घटित हुई है। जैसा कि मालूम है, कोरोना ( Coronavirus ) संकट में मजदूरों का पलायन ( Migrant Labourers ) जारी है। हजारों मिलों का सफर पैदल ही तय करने में लगे हैं। कुछ लोगों के लिए यह लॉकडाउन ( Lockdown 4.0 ) ताउम्र याद रहने वाला हैं। सलमान ( Salman Love Story ) भी इन लोगों में से ही है। बिहार ( Bihar ) के सीतामढ़ी का रहने वाला सलमान दिल्ली से परिवार संग पैदल ही घर के लिए निकला पड़ा। उसने कभी सोचा नहीं था कि उसके प्यार की शुरुआत इसी रास्ते से होने वाली है। हरियाणा के पलवल के के बाद सलमान के जिंदगी में उसकी मोहब्बत दस्तक देती है।

ऐसे हुई प्यार की शुरूआत ( Love Story in Lockdown )
18 मई को सलमान अपने परिवार के साथ दिल्ली से बिहार के लिए रवाना हुआ। हरियाणा के पलवल के आगे थकने पर परिवार एक जगह आराम के लिए बैठ गया। इसी दौरान वहां सलमान के पिता के एक दोस्त मिल गए, जो बिहार ही जा रहे थे। वह भी परिवार के साथ थे, जिसमें 12वीं पास शहनाज भी थी। अब आगे का सफर दोनों परिवार ने मिलकर तय किया। रास्ते में दोनों परिवारों ने साथ खाना खाया और साथ ही रुके। खाने के दौरान सलमान और शहनाज के नैन मिलन हुए।

Coronavirus: मास्क बांट कर गरीबों की मदद कर रहीं महिला, अब भगवान ने दिया तोहफा

ताजमहल ( taj Mahal ) बना प्यार की निशानी
जब दोनों परिवार आगरा पहुंचे तो यहां शहनाज ने सलमान से दबी आवाज में पूछा कि ये कौन सा शहर है। सलमान ने भी मुस्कुराते हुए जवाब दिया कि यह ताजमहल का शहर है। इसके बाद शहनाज ने कहा कि क्या आप मुझे ताजमहल दिखाएंगे। इस पर सलमान को एहसास हुआ कि दोनों एक जैसा ही सोच रहे हैं।

दोनों परिवार को हुआ शक
दोनों परिवार कानपुर पहुंच गए। परिवारों को शहनाज और सलमान को लेकर कुछ—कुछ आभास होने लगा। परिवारों ने दोनों से बातचीत की। इस दौरान काफी बहस हुई।

Lockdown में गांव में रहने गया था परिवार, पुश्तैनी मकान में मिला 33 लाख का सोना!

तू-तू, मैं-मैं और शादी ( Love Marriage )
गोरखपुर पहुंचने के बाद दोनों परिवार ने तय किया वह अलग—अलग समय पर निकलेंगे। इसी दौरान दोनों के बीच फिर तू-तू, मैं-मैं बढ़ती चली गई। इसी बीच सलमान ने ऐसा करने से मना कर दिया और कहा कि साथ चलेंगे। जब पिता ने मना किया तो सलमान का सब्र टूट गया और कह दिया कि शहनाज को लेकर ही जाऊंगा। दोनों परिवार में काफी गुस्सा था। लेकिन, दोनों की जिद्द के आगे परिवार राजी हो गए और शाम को निकाह हो गया। निकाह गांव में हुआ तो गांववालों ने कुछ कपड़े और पैसे भी दिए और कहा कि ये हमारे गांव की बेटी है।

दिल्ली में टाइपिस्ट हैसलमान
बता दें कि सलमान दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहता है और एक शॉप पर उर्दू टाइपिंग का काम करता है। लॉकडाउन में काम ठप हो गया। इसलिए बिहार लौट आए।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top