Trending

भारत में जल्दबाजी में स्कूल खोलना हो सकता है खतरनाक? होंगे इजराइल जैसे हालात

नई दिल्ली।
Schools Reopening: 8 जून से सभी धार्मिक स्थल, रेस्टोरेंट, मॉल ( Malls ) को खोलने के बाद अब स्कूलों को खोलने की तैयारी की जा रही है। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ( MHRD ) ने ​कहा है कि 15 अगस्त से स्कूल खोले जाएंगे। इसी बीच अब विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि जल्दबाजी में स्कूल खोले गए, तो स्थिति बेहद भयावह हो सकती है। अगर इसमें जल्दबाजी की जाती है तो इजराइल ( Israel ) जैसे हालात भारत में भी हो सकते हैं। वहीं, अभिभावक भी नहीं चाहते कि ऐसी परिस्थितियों में वे अपने बच्चों को स्कूल भेजें। बता दें कि देश में कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है।

इजराइल ने भुगता गंभीर परिणाम
इजराइल में कुछ हफ्तों पहले ही स्कूल खोलने की अनुमति दी थी। लेकिन, उसके बाद सरकार को अपना फैसला वापस लेना पड़ा, क्योंकि स्कूलों में 200 से भी ज्यादा बच्चे और शिक्षक कोरोना संक्रमित पाए गए। इसके अलावा करीब 10 हजार बच्चों व शिक्षकों को क्वारंटाइन किया जा चुका है। वहीं, दो की मौत हुई है।

Coronavirus: चीन में 2019 की गर्मियों में ही फैल गया था कोरोना, वैज्ञानिकों ने किया बड़ा खुलासा

भारत में भी हो सकते है इजराइल जैसी स्थिति?
विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में स्कूलों को खोलने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। क्योंकि कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है। ऐसे में स्कूलों का खोलना खतरनाक हो सकता है जैसे इजराइल में दिख रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में अगर पूरी रणनीति के तहत स्कूल नहीं खोले गए या जल्दबाज़ी की गई तो इजराइल जैसा अंजाम होना तय है।

अभिभावक नहीं चाहते स्कूल भेजना
एक सर्वे के मुताबिक, देश भर में सिर्फ 11 फीसदी अभिभावकों ने सरकार के तय किए कार्यक्रम के हिसाब से बच्चों को स्कूल भेजने की सहमति दी। 37 फीसदी अभिभावकों ने कहा कि 21 दिन तक कोई नया केस नहीं आएगा, तब वह अपने बच्चों को स्कूल भजेंगे। अन्य अभिभावकों ने कहा कि ऐसी स्थिति में वह अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे।

Earthquake: भूकंप के झटकों से आज फिर हिली धरती, कोरोना संकट के बीच बार-बार आ रहे भूकंप

15 अगस्ते से खुल रहें स्कूल
केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने ​कहा है कि 15 अगस्त से स्कूल खोले जाएंगे। इसको लेकर सभी राज्य सरकारों के साथ विचार-विमर्श शुरू भी कर दिया है। लेकिन, विशेषज्ञ इन तारीखों को लेकर एकमत नहीं हैं। कर्नाटक के नेता प्रतिपक्ष सिद्धारमैया ने कहा है कि अक्टूबर तक स्कूल न खोले जाएं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top