Viral

तीन लोगों की हत्या करने वाले टाइगर को मिली उम्रकैद की सजा, अब रहना होगा अकेला

नई दिल्ली।
मध्य प्रदेश ( Madhya Pradesh ) में एक टाइगर को उम्रकैद की सजा ( Tiger Sentenced to Life in Captivity ) सुनाई गई है। जिस टाइगर को सजा सुनाई गई है, उस पर तीन लोगों की हत्या ( Murder ) का आरोप है। इसके अलावा उसने कई बार मवेशियों पर भी हमला किया था। उसे कई बार मौके दिए गए, लेकिन बार-बार हमला करता गया। आखिर में इस टाइगर को इंसानों के लिए खतरनाक घोषित ​कर दिया गया। इसके बाद उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई।

तीन लोगों पर किया था हमला
अधिकारियों ने बताया, इस बाघ पर तीन लोगों की हत्या करने का आरोप लगा है। यह बाघ लोगों के लिए खतरनाक और जानलेवा साबित हो गया था। इसलिए अब इसे जंगल में रखने की बजाय कैद में रखा जाएगा। इस बाघ ने इंसानों के अलावा मवेशियों पर भी हमला कर दिया था। 2018 में यह बाघ करीब 500 किलोमीटर दूर पश्चिमी महाराष्ट्र के बैतूल जिले तक पहुंच गया था।

भारत में जल्दबाजी में स्कूल खोलना हो सकता है खतरनाक? होंगे इजराइल जैसे हालात

जंगल में कई बार छोड़ा
मध्य प्रदेश के चीफ वाइल्डलाइफ वार्डन एसके मंडल ने बताया, बाघ को कई बार मौके दिए गए। उसे हर बार जंगल में छोड़ा जाता, वह बार-बार इंसानों की आबादी में आकर हमला करता था। इसे 2019 NTCA गाइडलाइंस के तहत कैद की सजा सुनाई गई है।

लॉकडाउन के चलते टला फैसला
अधिकारियों ने बताया कि बाघ को कैद करने का फैसला पहले ही ले लिया था, लेकिन लॉकडाउन के चलते टाल दिया गया। भोपाल वन विहार नेशनल पार्क की डायरेक्ट्र कमलिका मोहंता का कहना है कि बाघ को नए माहौल में ढलने में समय लग सकता है। हम इसके बर्ताव पर नजर रखेंगे। फिलहाल बाघ को अकेले रखा जाएगा।

Coronavirus: चीन में 2019 की गर्मियों में ही फैल गया था कोरोना, वैज्ञानिकों ने किया बड़ा खुलासा

दो महीने कैद में रखा गया
बता दें कि बाघ न सिर्फ इंसानों पर हमला करता था, बल्कि मवेशियों को भी शिकार बनाता था। उसे दो महीने के लिए कैद में रखा गया था। इसके बाद उसे टाइगर रिजर्व और राष्ट्रीय उद्यान के बीच ही रखा जाता था। अब उसे इंजेक्शन से बेहोश कर भोपाल के एक चिड़ियाघर में भेज दिया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top